सादर वंदनीय,
नौजवान साथियो ....
भाईयो और बहनो !

मेरे... आपके या यूँ कहे कि हमारे समाज के सामने एक बहुत ही विकट समस्या है... बेरोजगारी ?? कारण ... हमने ' भविष्य का प्रश्न ' पढा तो सही लेकिन उसका उत्तर जानने का कभी प्रयास नही किया

आज प्रत्येक युवा के समक्ष 10+2 (बारहवीं कक्षा) तक की पढाई पूरी करने के बाद वही यक्ष प्रश्न आकर खडा हो जाता है... अब क्या करे ? कहाँ जाएं ...? कौनसा काम करें जिससे परिवार एंव समाज मे इज्जत भी बनी रहे और आजीविका भी चलती रहे....

मैने अपने जीवन के अनुभव से यही सीखा है कि ‘ यदि कामयाब होना है तो किसी एक को आदर्श मानना पडेगा … ‘ मैने माना है …. आपको भी प्रेरित करता हॅू … आईये हमारे साथ जुडिये … फिल्ड मार्शल डिफेन्स अकेडमी के सिद्धांतो को अपनाइये … मै आपके उज्ज्वल भविष्य की दुआओं के साथ - साथ आपके अनुशासित, सामाजिक एंव सफल व्यक्तित्व की परिकल्पना को साकार करने का वादा करता हूँ …..

जय हिन्द ....
जय नौजवान ....

शुभेच्छू
चेयरमेन